2 MIN READ

हेपेटाइटिस क्या है?

हेपेटाइटिस यकृत (लिवर) में होने वाले संक्रमण की तरफ इशारा करता है। यह विभिन्न घटकों के कारण हो सकता है। इन कारणों में से एक वायरल संक्रमण है जो कि सबसे सामान्य कारण भी हैं।

हेपेटाइटिस होने के कारण क्या हैं?

  • हेपेटाइटिस ए, बी, सी, डी, ई वायरस
  • साइटोमेगालो वायरस
  • एबस्टीन बर्र वायरस
  • शराब
  • शराब के अलावा जोकारण है जैसे कि मोटापा आदि

दूषित भोजन और पानी के सेवन की वजह से हेपेटाइटिस ए और ई होता है। असुरक्षित यौन संबंध, नशीली दवाओं के इंजेक्शन से संक्रमण और मां के शरीर में संक्रमण के माध्यम से हेपेटाइटिस बी और सी की बीमारी हो सकती है| हेपेटाइटिस डी तभी होता है जब हेपेटाइटिस बी शरीर में मौजूद हो।

हेपेटाइटिस का खतरा कब/किसे होता है?

  • पुरुष
  • बहुत लोगों के साथ यौन संबंध
  • असुरक्षित यौन संबंध
  • नशीली दवाओंके इंजेक्शन का गलत इस्तेमाल
  • बहुत बार खून बदलना (ब्लड ट्रांसफ्यूजन)
  • शराब का अतिसेवन
  • एचआईवी-एड्सजैसे रोग जो प्रतिरक्षा प्रणाली को कमजोर करते हैं

हेपेटाइटिस के लक्षण क्या हैं?

  • बुखार
  • सरदर्द
  • थकान
  • दुर्बलता
  • जोड़ों का दर्द
  • यकृत के आकार में वृद्धि
  • त्वचा और आंखों में पीलापन (पीलापन)
  • गहरा पीला पेशाब
  • उल्टी
  • मतली
  • पेट में दर्द
  • पेट के दाहिने हिस्से को छूने पर दर्द होना
  • तिल्ली का बढ़ना (केवल कुछ ही मामलों में यह लक्षण दिखाई देता है)

हेपेटाइटिस में कौनसी शारीरिक समस्याएं आती हैं?

  • क्रोनिक हेपेटाइटिस: उपचार करने के बावजूद भी ६ महीनों से अधिक समय तक क्रोनिक हेपेटाइटिस शरीर में कायम रहता है|
  • तीव्र लिवर फेल्युअर: यह नर्वस प्रणाली को नुकसान पहुंचता है। सुस्ती, आलस, व्यवहार में बदलाव, आक्रामकता, मतली, उल्टी और कोमा जैसे लक्षण इसमें दिखाई देते हैं|
  • लिवर को अपरिमित हानि (सिरोसिस)
  • लिवर का कैंसर

हेपेटाइटिस का निदान कैसे किया जाता है?

  • पूर्ण रक्त की गणना
  • HBsAg
  • एंटी एचएवी
  • एंटी एचसीवी
  • एंटी एचईवी
  • एंटी एचडीवी (केवल जब हेपेटाइटिस बी मौजूद है)
  • लिवर फ़ंक्शन का परीक्षण
  • मूत्र परीक्षण
  • मल परीक्षण
  • अल्ट्रासोनोग्राफी

हेपेटाइटिस का इलाज कैसे करें?

हेपेटाइटिस के उपचार लक्षणों की बुनियाद पर किए जाते हैं। हेपेटाइटिस ए का इलाज लक्षण देखके किया जाता है| हेपेटाइटिस बी और सी में एंटीवायरल दवाओं की आवश्यकता होती है। गंभीर मामलों में, लिवर के प्रत्यारोपण की आवश्यकता हो सकती है।

हेपेटाइटिस को रोकने के लिए जीवनशैली में कौनसे बदलाव आवश्यक हैं?

हेपेटाइटिस का सामना करने से अच्छा उसे रोकना बेहतर है। हेपेटाइटिस को रोकने के लिए स्वच्छता बनाए रखना और स्वच्छ पानी और भोजन का सेवन करना महत्वपूर्ण है। पानी उबाल कर पीएं।

संभोग के दौरान कंडोम और अन्य सुरक्षा सामग्री का उपयोग करना आवश्यक है| एक से अधिक लोगों के साथ यौन संबंध न बनाएं| इसके अलावा नशीली दवाओं के इंजेक्शन का दुरुपयोग न करे और शराब के अत्यधिक सेवन से बचें।बहुत बार खून बदलना (ब्लड ट्रांसफ्यूजन) आवश्यक होता है तब ट्रांसफ्यूजन से पहले रक्त में हेपेटाइटिस बी के न होने की पुष्टि कर लेनी चाहिए| उपचारों को पूरा करके हेपेटाइटिस को ठीक करना चाहिए क्योंकि हेपेटाइटिस की जटिलताएं घातक हो सकती हैं|

हेपेटाइटिस के लिए टीकाकरण

हेपेटाइटिस ए और बी के लिए टीकाकरण किया जा सकता है और इसे आपके चिकित्सक के परामर्श से लिया जा सकता है। यह संक्रमण की गंभीरता को कम करने के साथ-साथ रोकथाम में मदद कर सकता है। हेपेटाइटिस सी के लिए अभी तक कोई टीकाकरण उपलब्ध नहीं है।

Also read this here in English

Ask a question regarding हेपेटाइटिस: अवलोकन, लक्षण और उपचार

An account for you will be created and a confirmation link will be sent to you with the password.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here