2 MIN READ

शराब पीने के लिए बस बहाने की जरुरत होती है| कभी खुशी मनाने के लिए, कभी गम में डूबकर, कभी थकान की वजह से तो कभी आराम करने के लिए, शराबी शराब पीने का मौका ढूंढ ही लेते हैं| शराब पीते ही इंसान का मूड बदल सा जाता है, कुछ लोग ज्यादा बात करने लगते हैं, तो कुछ हसने या रोने लगते हैं|

बहुत ज्यादा अल्कोहोल लिवर के साथ साथ मस्तिष्क पर भी बुरा असर करता है| अल्कोहोल में इथनॉल के छोटे अणु होते हैं, जो खून में घुलकर मस्तिष्क तक पहुँचते हैं| एक सर्वेक्षण के अनुसार भारत के १८.१८ प्रतिशत बुजुर्गों में शराब पीने की आदत पाई गई है| परन्तु, बुजुर्गों के लिए शराब या अल्कोहोल की ऐसी आदत खतरनाक साबित हो सकती है| आइये देखते हैं, आखिर शराब हमारे मस्तिष्क पर क्या असर करती है:

1. वेर्निकेकोर्साकॉफ सिंड्रोम: मस्तिष्क को विटामिन बी १ की जरुरत होती है| अधिक मात्रा में शराब पीने की वजह से यह जरुरत पूरी नहीं हो पाती जिससे वेर्निके-कोर्साकॉफ सिंड्रोम का खतरा बढ़ सकता है|

2. स्मृतिभ्रंश: नर्वस प्रणाली के काम में अत्यधिक मात्रा में अल्कोहोल दखलअंदाजी करता है| धीरे धीरे पुरानी बातें, महत्वपूर्ण चीजें याद रहना भी बंद हो जाता है और स्मृतिभ्रंश पनपने लगता है|

3. मानसिक संतुलन खो जाता है: अत्यधिक शराब की वजह से नर्वस प्रणाली के न्यूरोट्रांसमीटर्स ठीक तरह से काम नहीं कर पाते| इससे व्यक्ति का अपने गतिविधियों पर नियंत्रण नहीं रहता|

ये जरूर पढ़ें: डिप्रेशन से निकले बाहर सपोर्ट ग्रुप्स की मदद से

4. तनाव: शराब के कारण शरीर में कोर्टिसोल हार्मोन बनता है जिसकी वजह से दिमाग में इतना तनाव बढ़ जाता है, जिसे व्यक्ति संभाल नहीं पाता और रो देता है|

5. ब्रेन स्ट्रोक का खतरा: शराब से ब्रेन स्ट्रोक यानि की पैरालिसिस का अटैक (लकवा) आने का खतरा रहता है| अगर समय पर उस व्यक्ति को अस्पताल न पहुँचाया गया तो ऐसी व्यक्ति को जीवनभर विकलांगता का सामना करना पड़ता है|

शराब पीने की वजह से पहले से ही ज्यादा उम्र के मस्तिष्क को काम करने के लिए तकलीफ होती है| इसलिए वृद्धावस्था में अत्यधिक शराब पीना सेहत के लिए खतरनाक साबित हो सकता है|

ये जरूर पढ़ें: वृद्धावस्था में डिप्रेशन से राहत देनेवाले कुछ खास ऐप्स

Ask a question regarding वृद्धावस्था में शराब दिमाग के लिए है खतरनाक 

An account for you will be created and a confirmation link will be sent to you with the password.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here