2 MIN READ

डिप्रेशन व्यक्ति को भीतर से दुर्बल करने वाला विकार है जो किसी व्यक्ति के मानसिक और भावनिक स्वास्थ्य को प्रभावित करता है। हर कोई, अपने जीवन के किसी न किसी बिंदु पर, उदासी की भावना को महसूस करता है। इन जैसी भावनाएँ सामान्य होती हैं और बुजुर्ग भी ऐसी हालातों से गुज़रते हैं। हालांकि, लम्बे समय तक उदासी तो बिलकुल ही सामान्य नहीं है और उम्र बढ़ने का तो ये परिणाम नहीं है। बुजुर्गों में डिप्रेशन उन्हें बहुत ज्यादा दुखी कर देता है। यह उनके जीवन को रुचिहीन बना देता है और रोजाना कामकाज में हस्तक्षेप करता है। लम्बे समय तक डिप्रेशन आत्महत्या का कारण बन सकती है।

डिप्रेशन से बचने के लिए अपनाएं ये तरीके:

शारीरिक गतिविधियां बढ़ाएँ: हर दिन किसी न किसी रूप में शारीरिक गतिविधि में व्यस्त रहने से आप मानसिक और शारीरिक रूप से स्वस्थ रहें। व्यायाम करने से एंडोर्फिन हार्मोन रिलीज होता है, जिसे हैप्पी हार्मोन भी कहा जाता है। इसलिए आपको लंबे वॉक या डांस करने के बाद अंदर से ख़ुशी का एहसास होता है। डिप्रेशन से बचने के लिए एक ऐसी गतिविधि खोजें जो आपके लिए सबसे अच्छी हो। सैर करना, योग, स्वीमिंग जैसे व्यायाम हैं, जो बुजुर्गों के लिए सुरक्षित हैं। इसलिए, कुछ शारीरिक गतिविधि करने के लिए दिन में 30 मिनट खर्च करना आपकी मानसिक सेहत के लिए अच्छा है।

शौक में व्यस्त रहें: अपने शौक या रूचि को पहचानकर उसमें व्यस्त रहना अत्यंत महत्वपूर्ण है। यह गार्डनिंग, खाना पकाना या किताबे पढ़ने जैसा कुछ भी हो सकता है। अपनी युवावस्था में जो शौक आप पूरे नहीं कर पाएं वे आप वृद्धावस्था में पूरे कर सकते हैं| डिप्रेशन की भावना से बचने के कोई भी शौक रखने की सलाह दी जाती है।

परिवार और दोस्तों से मिलें: जितना संभव हो उतना परिवार और दोस्तों से मिलना महत्वपूर्ण है। आप अपने दोस्तों से मिलने जा सकते हैं या उन्हें अपने घर पर पर बुला सकते हैं। आप परिवार के साथ डिनर के लिए सप्ताह में एक दिन योजना भी बना सकते हैं, जहाँ आप अपने बच्चों और नाती-पोतों से मिल सकते हैं। जिन लोगों से हम प्यार करते हैं, उनके साथ नियमित बातचीत हमें अकेले होने की भावना से बचने में मदद करती है।

ये भी पढ़ें: डिप्रेशन से निकले बाहर सपोर्ट ग्रुप्स की मदद से

अच्छी नींद लें: अनिद्रा डिप्रेशन का एक मुख्य कारण है। मन और शरीर को आराम की जरूरत होती है। सुनिश्चित करें कि आपको पर्याप्त आराम मिले और आपका बेडरूम अच्छी नींद के लिए अनुकूल हो। रोजाना एक ही समय पर सोने और जागने का प्रयास करें।

सही भोजन करें: एक संतुलित भोजन निरोगी शरीर और दिमाग के लिए योगदान देता है। साबुत अनाज, प्रोटीनयुक्त खाना खाएं और ऐसे भोजन से बचें जिनमें बहुत अधिक चीनी और स्टार्च हो। भोजन कम मात्रा में करें परन्तु भोजन ज्यादा बार करें और दिन में कम से कम आठ गिलास पानी पिएं।

डिप्रेशन को पूरी तरह से रोकने के लिए कोई भी निश्चित विधि नहीं है क्योंकि यह विभिन्न कारकों पर निर्भर करता है, हालाँकि निश्चित रूप से उपरोक्त चरणों का पालन करके इसे टाला जा सकता है।

ये भी पढ़ें: वृद्धावस्था में डिप्रेशन से राहत देनेवाले कुछ खास ऐप्स

Ask a question regarding ये करने से नहीं आएगा वृद्धावस्था में डिप्रेशन 

An account for you will be created and a confirmation link will be sent to you with the password.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here