2 MIN READ

किडनी की सेहत शरीर के स्वास्थ्य के लिए बेहद मायने रखती है| जी हां, किडनी विकार मौत का कारण बन सकते हैं, हालाँकि अगर सही देखभाल की जाए तो यह खतरा टल सकता है|  पूरा विश्व अब किडनी की बीमारियों की चपेट में आ रहा है| अशुद्ध पेयजल, खाने की अयोग्य आदतें इससे किडनी की बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है| इसलिए खासकर वृद्धावस्था में सभी को अपने किडनी के स्वास्थ्य के बारे में सचेत रहना आवश्यक है|

बुजुर्ग महिलाओं में किडनी के विकार

एक रिसर्च के मुताबिक किडनी की समस्या पुरुषों की तुलना में महिलाओं में ज्यादा पायी जाती हैं| महिलाओं में ५० से अधिक साल की उम्र में किडनी फेल्युअर (किडनी की निष्क्रियता) की अधिक संभावना रहती है| मधुमेह से पीड़ित महिलाओं को किडनी की गंभीर स्वरुप की बीमारी का सामना करना पड़ सकता है जिससे, ह्रदय विकार और मधुमेह से जुड़ी अन्य बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है|

बुजुर्ग महिलाओं में यूरीन इन्फेक्शन्स की वजह से किडनी की समस्याएं निर्माण होती हैं| इससे मूत्राशय और मूत्रवाहिकाओं पर भी असर पड़ता है| दी जॉर्ज इंस्टीट्यूट के मुताबिक किडनी की गंभीर बीमारियों में समय पर इलाज न मिलने के कारण लगभग ६ लाख महिलाओं की मौत होती है जो की मृत्यु का आंठवा प्रमुख कारण है|

महिलाओं में गर्भावस्था किडनी की बीमारी को प्रभावित करती है| रक्त को फ़िल्टर करके ह्रदय तक अच्छा रक्त पहुँचाने का काम करने में अगर किडनी विफल हो रही है तो इस बात को गम्भीरता से लेना जरुरी है| बुजुर्गों में किड़नी की उम्र बढ़ने के कारण भी किड़नी उसका काम करने में विफल हो सकती है हालाँकि, साल में कम से कम एक बार एसीआर और जीएफआर टेस्ट्स के जरिए हम किड़नी के सक्रियता की जाँच करा सकते हैं|

ये जरूर पढ़ें: इन दो किफायती टेस्ट्स के जरिए सुनिश्चित करें किडनी का स्वास्थ्य

शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं की कमी के कारण लगातार कमजोरी महसूस होना, साँस लेने में तकलीफ, ऑक्सीजन की कमी की वजह से बेहोशी या चक्कर आना, साँस में दुर्गन्ध, भूख न लगना और स्वाद न समझना,  पुरे शरीर में खुजली,  मूत्रसंस्था में संक्रमण की वजह सेपेशाब कम आना या बार बार पेशाब होना ये किडनी की बीमारियों के कुछ मुख्य लक्षण हैं जिन्हे नजरअंदाज करना महंगा पड़ सकता है| इसके अलावा इस बीमारी में एड़ियां, आँखों के नीचेवाला हिस्सा, पेट, चेहरा आदि अंगों पर सूजन भी पायी जाती है|

भारत में प्रधानमंत्री राष्ट्रीय डायलिसिस कार्यक्रम के अंतर्गत हर जिले में किफायती दाम में डायलिसिस की सुविधा उपलब्ध है| जब डायलिसिस से भी रक्त को फ़िल्टर करने का काम न हो तब कम खर्चे में किडनी ट्रांसप्लांट का विकल्प भी भारतीय वरिष्ठ महिलाओं के लिए उपलब्ध है|

ये जरूर पढ़ें: जानें प्रधानमंत्री राष्ट्रीय डायलिसिस कार्यक्रम के बारे में

 

Ask a question regarding आखिर क्यों होते हैं वरिष्ठ महिलाओं को किडनी के विकार?

An account for you will be created and a confirmation link will be sent to you with the password.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here